मानहानि केस में कंगना रनोट ने फिर एक बार हाईकोर्ट का रुख किया है। कंगना पर साल 2020 में जावेद अख्तर ने मानहानि का केस किया था, जो अब भी जारी है। अब कंगना इस केस में राहत चाहती हैं। हाल ही में कंगना ने बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर कर इस केस पर रोक लगाने की मांग की है। हाल ही में आई फ्री प्रेस जर्नल की रिपोर्ट के अनुसार, कंगना रनोट अब मानहानि केस को खत्म करना चाहती हैं, जिसके लिए उन्होंने हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। दरअसल साल 2020 में जब जावेद अख्तर ने कंगना पर मानहानि का मुकदमा दायर किया था, तब पलटवार करते हुए कंगना ने भी उन पर मानहानि का केस किया था। बीते साल जावेद अख्तर को मामले में क्लीन चिट दे दी गई थी, लेकिन कंगना पर लगाया गया जावेद का मुकदमा अब भी जारी है। कंगना का कहना है कि जब जावेद का केस रद्द कर दिया गया, तो उनका क्यों नहीं।

जल्द होगी मामले पर सुनवाई रिपोर्ट के अनुसार, न्यायमूर्ति रेवती मोहिते डेरे और मंजुशा देशपांडे इस याचिका पर 9 जनवरी को सुनवाई करेंगी। देखना होगा कि कोर्ट से कंगना को राहत मिलती है या नहीं

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद कंगना रनोट ने बॉलीवुड के कई लोगों पर संगीन आरोप लगाए थे। कंगना ने इसी दौरान एक्स ऋतिक रोशन और उनसे जुड़े लोगों पर भी विवादित बयान दिए थे। कंगना ने एक टीवी इंटरव्यू के दौरान कहा था कि जावेद अख्तर ने उन्हें घर बुलाकर धमकी दी थी कि अगर उन्होंने ऋतिक को परेशान किया तो वो उन्हें छोड़ेंगे नहीं। कंगना का बयान सामने आने के बाद लिरिसिस्ट जावेद अख्तर ने उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया था।

जावेद से जवाबी कार्यवाही में कंगना ने भी उन पर मानहानि का केस किया था। 2020 में हुए केस के बाद अंधेरी सेशन कोर्ट ने कंगना के केस को कमजोर पाते हुए उसे रद्द कर दिया था, जबकि जावेद द्वारा किया गया केस अब भी जारी है। ऐसे में कंगना का कहना है कि जब एक केस बंद हो चुका है, तो दूसरा भी बंद किया जाना चाहिए।