'सभी के लिए आवास' पर निरंतर जोर के साथ बजट 2024 में रियल एस्टेट सेक्टर के लिए एक उज्ज्वल आउटलुक की आशा

आगामी बजट 2024 में भारत में रियल एस्टेट क्षेत्र के विकास का समर्थन करने के लिए 'सभी के लिए आवास', कर राहत उपायों और स्थिरता पहल को प्राथमिकता देने का अनुमान है।

भारतीय रियल एस्टेट क्षेत्र एक आशाजनक भविष्य के लिए तैयार है, जो शहरीकरण, सकारात्मक नीति सुधार, बढ़ती उपभोक्ता भावना और डिस्पोजेबल आय में वृद्धि जैसे कारकों से प्रेरित है। 2023 में, भारत में रियल एस्टेट क्षेत्र में अभूतपूर्व वृद्धि देखी गई, जिसने पिछले रिकॉर्ड को पार कर लिया और उल्लेखनीय प्रगति प्रदर्शित की।

इस वृद्धि का श्रेय नीतिगत सुधारों, उपभोक्ता भावना में उछाल, खर्च योग्य आय में वृद्धि और बड़े घरों की बढ़ती मांग को दिया जाता है। जैसे-जैसे देश की शहरी आबादी बढ़ती जा रही है, आवासीय और वाणिज्यिक दोनों स्थानों की मांग में तेजी से वृद्धि बनी रहने की उम्मीद है।

शहरीकरण प्राथमिक चालक होने के कारण, रियल एस्टेट की मांग मजबूत रहने की उम्मीद है। शहरों और क्षेत्रों में अलग-अलग विकास दर के बावजूद, संपत्ति की कीमतों में पर्याप्त उछाल आने की उम्मीद है। मेट्रोपॉलिटन क्षेत्रों में छोटे शहरों की तुलना में अधिक मूल्य वृद्धि का अनुभव होने की संभावना है, जो रियल एस्टेट बाजार की गतिशील प्रकृति को दर्शाता है।