“भविष्य का अन्वेषण करें: खर्राटों से राहत के लिए नवोन्मेषी तकिए और पारदर्शी टीवी की प्रतीक्षा है!”

CES 24 में इस साल पारदर्शी टीवी से लेकर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ड दूरबीन नजर आई. मोशन वाले तकिये से लेकर जॉय स्टिक से कार चलाने वाले गैजेट्स भी तफ़री करते दिखे.

Z
CES 24 के नजर आए आनोखे गैजेट्स

Consumer Electronics Show (CES 24) मतलब टेक्नोलॉजी कंपनियों का स्वर्ग. अमेरिका के लास वेगास में हर साल ये मेला लगता है. दुनिया जहान की शायद हर कंपनी (एक को छोड़कर) यहां अपनी हाजरी लगाती है. नए प्रोडक्टस लॉन्च करती हैं और फ्यूचर में आने वाली कमाल की टेक्नोलॉजी के बारे में भी बताती हैं. CES जितना अपने शानदार प्रोडक्ट के लिए जाना जाता है, उतना ही अजीब-अजीब प्रोडक्टस के लिए भी. कंपनियां प्रोटोटाइप के नाम पर कई अजीब मगर दिलचस्प प्रोडक्ट यहां शो-केस करती हैं. इस बार भी ऐसा ही है. भतेरे प्रोडक्ट नजर आए और कुछ पर हमारी भी नजर पड़ी.

CES 24 में इस साल पारदर्शी टीवी से लेकर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ड दूरबीन नजर आई. मोशन वाले तकिये से लेकर जॉय स्टिक से कार चलाने वाले गैजेट्स भी तफ़री करते दिखे. 

सैमसंग और एलजी की ट्रांसपेरेंट टीवी

इस टीवी के बारे में बात करने से पहले मेरे मन में एक सवाल है. आखिर इस टीवी को कोई क्यों ही खरीदेगा. नाम से ही समझ में आ रहा है कि दोनों टेक दिग्गजों ने टीवी बाजार में कब्जे के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है. एलईडी से लेकर एचडी, अल्ट्रा एचडी, OLED से लेकर दीवार में लटकाने वाली टीवी तो दोनों कंपनियां काफी समय से लॉन्च कर रहीं. अब दोनों कंपनियां पारदर्शी टीवी लेकर आई हैं. चलती हुई टीवी के आरपार देखा जा सकेगा. और बंद रहने पर इसको फिश टैंक से लेकर फायर प्लेस के जैसे इस्तेमाल किया जा सकेगा. मतलब इस्तेमाल नहीं, दिखने में फिश टैंक और फायर प्लेस जैसा. दोनों कंपनियों ने इस टीवी को लॉन्च करने के पीछे तर्क भी दिया है. उनका कहना है कि इस टीवी का मकसद जगह की कमी को पूरा करना है. मतलब ट्रांसपेरेंट टीवी को रियल टाइम में खिड़की के जैसे भी इस्तेमाल कर सकते हैं. अब क्या ही कहें.

navbharat times 105286081

AI वाली दूरबीन

AI पिछले साल बहुत जोर से आई. जिसे देखो वही अपने प्रोडक्ट में AI फिट कर रहा. अब वाकई में इसका कितना फायदा होगा वो तो वक्त की गोद में है मगर AI बेस्ड एक दिलचस्प प्रोडक्ट CES 24 में नजर आया है. ये एक दूरबीन है जो AI से लैस है. दूरबीन और AI का जोड़ समझेंगे लेकिन पहले प्रोडक्ट समझ लेते हैं. Optik AX Visio binoculars जिसे बनाया है Swarovski Optik ने. इस दूरबीन की कीमत है 4799 डॉलर मतलब करीब चार लाख रुपये. ये भी एक आम दूरबीन जैसी ही है, बोले तो दूर बैठे पंछी को देखने में मदद करेगी. मगर इसके साथ उस पंछी का पूरा तियां-पांचा जैसे वो कौन सी चिड़िया है, किस इलाके से आती है. क्या खाती है क्या पीती है. सब रियल टाइम में आंखों के सामने नजर आएगा. Bird-watching करने वालों के लिए तो वाकई में जबरदस्त डिवाइस है. लेकिन रियल टाइम में जानकारी वाकई में कितनी रियल होगी, कैसे मिलेगी वो पता चलना बाकी है.

PS 5 कंट्रोलर से कार

सोनी के प्ले स्टेशन के बारे में कौन नहीं जानता. गेमिंग करने वालों के लिए ड्रीम प्रोडक्ट. इस प्ले स्टेशन में गेम खेलने के लिए कई सारे प्रोडक्ट आते हैं जिसमें से सबसे महशूर है उनका हाथ से चलने वाला कंट्रोलर. अभी तक ये सब वर्चुअल दुनिया मे होता था मगर अब हकीकत में भी ऐसा होगा. सोनी के इस PS 5 कंट्रोलर से कार चलेगी. CES में सोनी और होंडा AFEELA ने मिलकर ऐसा कर दिखाया है. अब होंडा ऐसा क्यों कर रही वो अभी बता पाना मुश्किल है. मगर कयास लागए जा रहे हैं कि कंपनी बिना ड्राइवर वाली कार या सेल्फ ड्राइविंग कार बनाने की तैयारी कर रही है. आज की तारीख में एलन मस्क की tesla इसमें सबसे आगे है. हालांकि और भी कंपनियां जैसे Google, Renault, Audi भी इस पर जोरशोर से काम कर रही हैं.

मोशन वाला तकिया

नाम सुनकर मन में नहीं बल्कि नाक में इमोशन जगाइए. कंपनी का नाम भी Motion Pillow है. दावा है कि ये तकिया खर्राटे कम करने में मदद करेगा. तकिये में लगे हैं सेंसर और ऐप मिलेगा फोन में. इस्तेमाल करने वाले की सोने की तमाम पैटर्न को स्टडी करेगा. इसके बाद जैसे ही खर्राटे बढ़ेंगे, तकिया फूलने लगेगा. कंपनी का कहना है कि ऐसा करने से सिर ऊपर की ओर जाएगा और खर्राटे नीचे की तरफ. मतलब कम हो जाएंगे. सुकून वाली नींद का दावा करने वाले इस तकिए की कीमत होगी 420 डॉलर बोले तो 34,830 रुपये. जानकारी के लिए बता दें कि इस प्रोडक्ट को CES 24 में  ‘Best of Innovation’  का अवॉर्ड मिला है.

BrightWhite

वैसे प्रोडक्ट लिस्ट बहुतई लंबी है. मसलन Samsung Ballie प्रोजेक्टर जो गेंद जैसा है या फिर LG का AI एजेंट. फिर कभी बात करेंगे.  

Leave a comment