“14 वर्षों के बाद, Apple ने शीर्ष स्थान पुनः प्राप्त किया: सैमसंग-Xiaomi की किस्मत में बदलाव का कारण क्या है?”

Apple सैमसंग को पछाड़ कर दुनिया में सबसे ज्यादा स्मार्टफोन बेचने वाली कंपनी बन गई है. साल 2010 के बाद ऐसा हुआ है. कमाल बात ये है कि ऐप्पल ने ये मुकाम तब हासिल किया, जब वैश्विक स्तर पर फोन शिपमेंट में 3.2 फीसदी की गिरावट देखी गई है.

874628 730X365
ऐप्पल नंबर 1

क्रिकेट के वनडे वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया और अफगानिस्तान के बीच का लीग मैच याद होगा आपको. मतलब भले आप क्रिकेट प्रेमी नहीं भी होंगे, तब भी इस मैच के बारे में सुना, पढ़ा या देखा होगा. वजह ये कि इस मैच में जैसे कंगारुओं ने वापसी की, वैसा कम ही देखने को मिलता है. 91 रन पर टीम ने 7 विकेट गंवा दिए थे मगर ग्लेन मैक्सवेल (Glenn Maxwell) ने दोहरा शतक ठोककर ऑस्ट्रेलिया (Australia) को अकेले मैच जितवा दिया था. आपको लगेगा ये सब आज क्यों बता रहे. अजी स्टोरी की लाइन बिठाने के लिए. दरअसल ऐसी ही वापसी Apple ने की है.

ऐप्पल सैमसंग को पछाड़ कर दुनिया में सबसे ज्यादा स्मार्टफोन बेचने वाली कंपनी बन गई है. तकरीबन 14 साल के बाद मतलब साल 2010 के बाद ऐसा हुआ है. कमाल बात ये है कि ऐप्पल ने ये मुकाम तब हासिल किया, जब वैश्विक स्तर पर फोन शिपमेंट में 3.2 फीसदी की गिरावट देखी गई है. साल 2022 में जहां 1.21 बिलियन (121 करोड़) डिवाइस का शिपमेंट हुआ, वहीं 2023 में ये आंकड़ा गिरकर 1.17 बिलियन (117 करोड़) हो गया.

IDC (International Data Corporation) ने स्मार्टफोन बिक्री से जुड़े आंकड़े शेयर किये हैं. IDC के मुताबिक साल 2023 की पहली छमाही में स्मार्टफोन शिपमेंट में गिरावट देखी गई, मगर दूसरी छमाही में इसने खूब रफ्तार पकड़ी. विशेषकर आखिरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर) में. दुनिया जहान में स्मार्टफोन शिपमेंट 8.5 फीसदी बढ़ा. इसका सबसे बड़ा फायदा हुआ ऐप्पल को.

GD7MwMsXMAAyUDX?format=jpg&name=large

117 करोड़ डिवाइस वाले मार्केट में ऐप्पल की 20.1 फीसदी हिस्सेदारी है, तो सैमसंग 19.4 फीसदी हिस्सा लेकर बैठा हुआ है. तीसरे नंबर पर शाओमी है, जिसकी हिस्सेदारी 12.5 फीसदी है. ऐप्पल टॉप की तीन कंपनियों में भी पॉजिटिव ग्रोथ दिखाने वाली एकमात्र कंपनी है. IDC के मुताबिक दुनिया भर के उभरते बाजार में भले ही बजट वाले एंड्रॉयड फोन का कब्जा हो, लेकिन ओवरऑल यहां भी ऐप्पल ही राजा बनकर उभरा है.  

ऐप्पल नंबर वन पर है तो जाहिर सी बात है कि प्रीमियम डिवाइस का मार्केट बढ़ा है. IDC के अनुसार ऐप्पल ने उभरते हुए बाजारों में अपनी बिक्री बढ़ाने के लिए कई काम किए हैं. मसलन बैंक ऑफर्स से लेकर फाइनेंस तक. इसका सबसे बड़ा उदाहरण भारत का मार्केट है. पिछले कुछ सालों में भारत में आईफोन की बिक्री खूब बढ़ी है. ई-कॉमर्स वेबसाइट्स से लेकर बैंक ऑफर्स ने इसमें खूब योगदान दिया है. इस वजह से आईफोन के दाम काफी कम हुए. हद तो तब हुई, जब पिछले साल कुछ समय के लिए आईफोन 13 का दाम भारत में अमेरिका से भी कम हो गया था.

स्टोरी समाप्त. बस जाते-जाते वापसी वाली बात भी जान लीजिए.  

दरअसल पिछले हफ्ते ऐप्पल को एक झटका लगा था.  ने ऐप्पल को पछाड़ कर दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी का तमगा हासिल कर लिया था. साल 2021 से ऐप्पल यहां अपना कब्जा जमाए हुए थी. ऐसे में स्मार्टफोन बेचने में नंबर वन बनना एक किस्म की वापसी ही हुई. 

वीडियो: ‘मजा नहीं आया” आईफोन 15 लॉन्च के बाद ऐप्पल के नए गैजेट पर एक्सपर्ट ने क्या बता दिया?

1694759940155 377293094 2630792763749693 2226741687442467092 n

Leave a comment